News

अधिसूचना

posted by: 2018-Jul-18

मधुबन, विद्यालयी स्तर से ही हिंदी को एक सशक्त एवं सफल विषय के रूप में लोकप्रिय बनाने हेतु प्रयासरत है। जहाँ एक ओर हम अपनी चतुर्दिक विकासोन्मुख गतिविधियों एवं रचनात्मक उद्देश्य से पूरित पाठ्यपुस्तकों द्वारा राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर हिंदी को एक विशिष्ट पहचान दिलाने हेतु अहर्निश कार्यरत हैं, वहीं अनजाने में हुई किसी भी त्रुटि के लिए संपूर्ण पाठक वर्ग एवं उपभोक्ता वर्ग को सूचित करना भी अपना कर्तव्य समझते हैं। इस निमित्त विगत सप्ताह एक विशिष्ट संस्थान द्वारा व्याकरण वाटिका कक्षा पाँच के श्रुतभाव खंड में दिए छत्रपति शिवाजी महाराज से संबंधित एक अंश के कारण इस महान ध्येय पर प्रश्नचिह्न लगता देख हमने तत्काल प्रभाव से इस पुस्तक को बाजार तथा वेबसाइट से हटा लिया है तथा सोशल मीडिया के माध्यम से सभी को बताना भी चाहते हैं कि छत्रपति शिवाजी महाराज का व्यक्तित्व और जीवन हम सभी के लिए प्रेरणा की गंगोत्री से कम नहीं। अतः उनके लिए अशोभनीय भाषा लिखना तो बहुत दूर, किसी अशोभनीय विचार का मन में आना भी आत्मग्लानि का विषय है।

© Copyright 2018 madhubun books. All Right reserved.