product detail

Garima Hindi Pathmala (ICSE Edition)

author: Rama Gupta, Virendra Jain, Dr Pradeep Kumar Jain

Supporting Material: Available

गरिमा हिंदी पाठमाला 2016 में प्रकाशित की गई है। Text-cum-Workbook के रूप में प्रकाशित इस पाठमाला के CBSE और ICSE दो संस्करण हैं। दोनों ही संस्करण N.C.F-2005 के अनुरूप तैयार किए गए हैं। इस पाठमाला के पाठों के लिए रचनाओं का चयन करते समय भारत की विविधता और विभिन्न क्षेत्रों के चर्चित लोगों के अनुभव संसार को प्राथमिकता दी गई है। यह पाठमाला सरल भाषा में सहज ज्ञान उपलब्ध कराती है।

About Author

गरिमा हिंदी पाठमाला भाग 1 और 2 की लेखिका हैं—
रमा गुप्ता, पूर्व अध्यापिका - सरदार पटेल विद्यालय, नई दिल्ली
गरिमा भाग 3, 4, 5, 6, 7, 8 के लेखक द्वय हैं—
श्री  वीरेंद्र जैन शिक्षाशास्त्री
पूर्व सदस्य, एनसीईआरटी पाठ्यपुस्तक निर्माण समिति
डॉ. प्रदीप कुमार जैन, एम.ए. संस्कृत, हिंदी, पी-एच.डी.
भाषाविद्, शिक्षाविद्, मॉडर्न पब्लिक स्कूल, बाराखंबा रोड, नई दिल्ली

About the Series

CBSE और ICSE दोनों संस्करणों में शिक्षार्थी के स्तर के अनुरूप पाठ, क्रमबद्ध व्याकरण ज्ञान, हिंदी और अंग्रेजी में शब्दार्थ, लेखक/कवि परिचय दिया गया है।

जीवनोपयोगी शिक्षा के लिए ‘बोल-अनमोल’, ‘आज का विचार’ शीर्षक के अंतर्गत महापुरुषों के कथन, सूक्तियाँ आदि दी गई हैं। सभी किताबों की पठन-सामग्री में

विविध विधाओं—कहानी, वार्तालाप, कविता, नाटक, डायरी, संस्मरण, विदेशी-कथा, घटना-कथा, ज्ञान-विज्ञान आदि पर आधारित पाठ शामिल किए गए हैं। मनोरंजन

के लिए ‘बतरस’ में चुटकुले दिए गए हैं। सामाजिक, नैतिक और राष्ट्रीय चेतना के विकास में सहायक सामग्री शामिल की गई है। अध्ययन में रुचि बढ़ाने के लिए

Reading for Pleasure के रूप में सामग्री दी गई है।

 

पूरी सीरीज  में ICSE और CBSE के दिशा-निर्देशों का पालन किया गया है। पाठ्यक्रम को आवधिक, अर्धवार्षिक और वार्षिक पाठ्यक्रम में विभाजित किया गया है। पाठ-मूल्यांकन के अंतर्गत मौखिक, लिखित, चित्रात्मक, VBQ, M.I. आदि प्रश्न दिए गए हैं। विषय संवर्धन गतिविधियों में संवाद, अनुच्छेद, चित्र वर्णन, वाद-विवाद, काल्पनिक भेंटवार्ता जैसी गतिविधियाँ शामिल की गई हैं। वाचन एवं श्रवण कौशल (ASL) को बढ़ावा देने हेतु गतिविधियाँ भी दी गई हैं। पाठ्यपुस्तक 6,7,8 में आवधिक,  अर्धवार्षिक और वार्षिक परीक्षा हेतु प्रश्न पत्र दिए गए हैं। जिसमें कक्षा-6 में प्रथम सत्र का 10%, कक्षा-7 में प्रथम सत्र का 20% और कक्षा-8 में प्रथम सत्र का 30% पाठ्यक्रम लिया गया है।

Supporting Material

  • शिक्षक-दर्शिकाएँ : इनमें पाठ/कविता का सारांश, लेखक का मंतव्य, शिक्षकों के लिए आवश्यक एवं उपयोगी दिशा-निर्देश, पुस्तकों में पूछे गए सभी प्रश्नों के उत्तर एवं प्रश्नपत्रों के हल, गतिविधियों के हल या उससे संबंधित दिशा-निर्देश दिए गए हैं।
  • शिक्षकों के लिए भाग 1 से 8 की CD उपलब्ध है।
  •  e-book : इसमें पाठ के वाचन के साथ ही कठिन शब्दों का अर्थ, पर्यायवाची, विलोम आदि विभिन्न प्रकार के शब्द दिए गए हैं।
  •  Web Support : वेबसाइट पर कुछ अतिरिक्त प्रश्न अभ्यास दिए गए हैं। इन Worksheets में परिवर्तन भी किया जा सकता है। Worksheets उत्‍तर रहित तथा उत्‍तर सहित दोनों रूपों में उपलब्‍ध हैं।

CD : Teacher Support book  के साथ E-book और Animation युक्त CD उपलब्ध है। छात्र इसे info@madhubunbooks.com पर आग्रह भेजकर प्राप्त कर सकते हैं।

Garima Hindi Pathmala 1

गरिमा हिंदी पाठमाला 2016 में प्रकाशित की गई है। Text-cum-Workbook के रू More..

isbn
9789325991712
price
285

Garima Hindi Pathmala 2

गरिमा हिंदी पाठमाला 2016 में प्रकाशित की गई है। Text-cum-Workbook के रू More..

isbn
9789325991729
price
295

Garima Hindi Pathmala 3

गरिमा हिंदी पाठमाला 2016 में प्रकाशित की गई है। Text-cum-Workbook के रू More..

isbn
9789325991736
price
370

Garima Hindi Pathmala 4

गरिमा हिंदी पाठमाला 2016 में प्रकाशित की गई है। Text-cum-Workbook के रू More..

isbn
9789325991743
price
380

Garima Hindi Pathmala 5

गरिमा हिंदी पाठमाला 2016 में प्रकाशित की गई है। Text-cum-Workbook के रू More..

isbn
9789325991750
price
390

Garima Hindi Pathmala 6

गरिमा हिंदी पाठमाला 2016 में प्रकाशित की गई है। Text-cum-Workbook के रू More..

isbn
9789325990111
price
395

Garima Hindi Pathmala 7

गरिमा हिंदी पाठमाला 2016 में प्रकाशित की गई है। Text-cum-Workbook के रू More..

isbn
9789325990128
price
395

Garima Hindi Pathmala 8

गरिमा हिंदी पाठमाला 2016 में प्रकाशित की गई है। Text-cum-Workbook के रू More..

isbn
9789325990135
price
395

Recently viewed

Garima Hindi Pathmala (ICSE Edition)

© Copyright 2020 madhubun books. All Right reserved.